Lucknow बुखार से तप रहे यूपी में दस दिवसीय डोर-टू-डोर कंपैन

drru

सीएम योगी के निर्देश के बाद सरकारी मशीनरी को ग्राउंड पर सक्रिय होगी और बदलते मौसम के कारण बीमारियों के बढ़ते प्रकोप पर भी लगाम लगाया जाएगा।सरकार ने माना है कि कई जिलों में लोग वायरल बुखार से प्रभावित हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में डेंगू के बढ़ते केस को देखते हुए स्वास्थ्य महकमा दस दिवसीय डोर टू डोर कैंपेन की शुरुआत करने जा रहा है ऐसे में सर्विलांस को और बेहतर करने के मकसद से 07 सितंबर से यह प्रदेशव्यापी इनिशिएटिव शुरु होगा।इसके अलावा बुखार से तप रहे पश्चिमी यूपी के तमाम जनपदों के लिए भी अलग से रणनीति बनाई गई है।


इसमें डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया, कोरोना व टीबी के संदिग्ध लक्षणों वाले मरीजों को खोजा जाएगा।बुखार के मरीजों का ब्योरा जुटाया जाएगा।वहीं कोरोना काल में जिन बच्चों का रूटीन टीकाकरण नहीं हुआ, उनकी लिस्टिंग की जायेगी। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक बारिश में डेंगू मलेरिया का खतरा बढ़ गया है। वहीं तीसरी लहर की भी आशंका है।ऐसे में 7 सितम्बर से 16 सितंबर तक राज्य में विशेष अभियान चलेगा। इसके अलावा 45 वर्ष से ऊपर ऐसे कितने लोग हैं, जिन्होंने एक भी डोज नहीं लगवाई हैं।इसका ब्योरा जुटाया जाएगा।यह पूरा कैंपेन डोर टू डोर आधारित होगा।


सरकारी आकंड़ों में यूपी में भले ही कोरोना के संक्रमण में कमी आ रही हो पर डेंगू-मलेरिया से लोग जरुर कराह रहे है।राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के कई शहर बुखार से तप रहे हैं।फीरोजाबाद में डेंगू व मथुरा में स्क्रबटाइफस ने कहर मचा रखा है।इस बीच गुरुवार सुबह कोरोना के 8 नए मरीज मिले हैं।इससे पहले बुधवार को उत्तर प्रदेश के 11 जनपदों में 19 कोरोना संक्रमित केस सामने आएं।खास बात यह है कि प्रदेश के 64 जिलों में कोरोना पॉजिटिव केस नही मिले।इस दौरान 20 मरीज कोविड से रिकवर होने में भी कामयाब रहे।फिलहाल यूपी में 250 एक्टिव केस शेष हैं।24 घंटे में 2 लाख 8 हजार 106 टेस्ट किए गए।


प्रदेश में अलीगढ़, अमेठी, अयोध्या, बागपत, बलिया , बांदा, बस्ती, बिजनौर, बुलंदशहर, चित्रकूट, देवरिया, एटा, फर्रुखाबाद, गोंडा, हमीरपुर, हरदोई, जौनपुर, कानपुर देहात, ललितपुर, महोबा, मऊ, मुजफ्फरनगर, पीलीभीत, रामपुर, शामली, सीतापुर, सुल्तानपुर जिलों में कोरोना के सक्रिय मामले शून्य है यानी यहां पर कोरोना के एक भी सक्रिय मरीज नहीं हैं।बुधवार को प्रदेश के 64 जिलों को कोई पॉजिटिव केस नही मिला।

एक अगस्त को 36 मरीज मिले। दो अगस्त को 25, वहीं तीन अगस्त को 65 रोगी पाए गए थे।इसके अलावा 4 अगस्त को 61, 5 अगस्त को 34, 6 अगस्त को 41, 7 अगस्त को 28, 8 अगस्त को 58, 9 अगस्त को 23, 10 अगस्त को 20, 11 अगस्त को 27 और 12 अगस्त को 43 मरीज मिले।13 अगस्त को 33 मरीज मिले।14 अगस्त को 42 नए मरीज पाए गए।16 अगस्त को 17 नए मरीज मिले।17 अगस्त को 27 मरीज मिले और 18 अगस्त को 35 मरीज मिले है।19 अगस्त को यह आकंड़ा 29 रहा।20 अगस्त को यहां 26 संक्रमित सामने आएं।21 अगस्त को 25 संक्रमित मिले वही 22 अगस्त को 14 कोरोना पॉजिटिव मरीज की पुष्टि हुई।23 अगस्त को यह संख्या 7 रही।24 अगस्त को यह आकंड़े 28 रहे।25 अगस्त को 22 संक्रमित मिले है।26 अगस्त को कोरोना के 19 केस सामने आएं।27 अगस्त को 21 कोरोना केस सामने आएं थे और 28 अगस्त को 26 मरीज मिले।29 अगस्त को यह संख्या 14 रही।30 अगस्त को यह संख्या 21 रही वही 31 अगस्त को 19 केस आएं।पहली सितंबर को प्रदेश में 19 कोविड केस दर्ज हुए।

डॉ यूसी घोषाल -प्रमुख - गैस्ट्रो एंट्रो डिपार्टमेंट - SGPGI - लखनऊ अब तक प्रदेश भर में 7 करोड़ 31 लाख 42 हजार 261 का वैक्सीनेशन किया जा चुका है।इससे पहले 03 अगस्त को यूपी में 28 लाख 04 हजार 258 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ,वही 27 अगस्त को एक दिन में 30 लाख 680 वैक्सीन की डोज लगी।SGPGI के गैस्ट्रोइंट्रो विभाग के प्रमुख डॉ यूसी घोषाल ने बताया कि यह सही है कि उत्तर प्रदेश में फिलहाल कोरोना ज्यादा बेहतर तरीके से नियंत्रित नजर आ रहा है।पर देश के कुछ राज्यों में इसकी रफ्तार फिर से भयावह नजर का रही है इसलिए हमें पूरी सजगता बरतनी चाहिए, हल्की सी लापरवाही गंभीर परिणाम भुगतने पर मजबूर कर सकती हैं।बेहद संयमित रहकर ही हमें आगे बढ़ना होगा कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होना चाहिए और दोनों डोज वैक्सीन लेने के बाद ही घर से बाहर निकलना मुनासिब होगा।हां, जो पहले से गंभीर बीमारियों की चपेट में है और उनकी इम्यूनिटी लो हो चुकी है।उन्हें वैक्सीन लेने की भी मनाही है उनके लिए रिस्क ज्यादा है इसलिए उन्हें खुद के बचाव के लिए सभी नियमों का सख्ती से पालन करना चाहिए।वही संचारी रोग के विषय मे डॉ घोषाल कहते है कि उससे घबराने की जरुरत नही है बस समय रहते उपचार करें,खान - पान में सावधानी बरतें।लक्षण दिखने पर तत्काल चिकित्सक के पास जाएं। प्रदेश में मंगलवार को 15 लाख 64 हजार 158 वैक्सीन की डोज लगाई गई।यूपी में अब तक 6 करोड़ 14 लाख 39 हजार 591 को पहली डोज और 1 करोड़ 17 लाख 02 हजार 670 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है।

Post a Comment

From around the web