ट्रांसफार्मर के नीचे सजाई दुकानें, बनाया स्टोर

drru

जिससे तीन बच्चों समेत पांच लोगों की मौत हो गई थी। दुर्घटना की वजह दुकानदार की लापरवाही बताई जा रही है। स्थानीय लोगों के अनुसार, लोगों ने दुकानदार से टिन शेड के नीचे लगी लोहे की नाल में करंट आने की शिकायत की थी। लेकिन दुकानदार ने लोगों की शिकायतों को नजरअंदाज करते हुए मामले में लापरवा फिलहाल इस बार बरसात के मौसम में तमाम सुरक्षा दावों के बीच गाजियाबाद में करंट लगने से तीन बच्चों समेत पांच लोगों की मौत हो गई। बावजूद इसके लापरवाही चरम पर है। गर्मी और बरसात में बिजली से होने वाले हादसों की आशंका अधिक होती है।  गाजियाबाद में विद्युत ट्रांसफार्मर के नीचे ही दुकान और स्टोर बना लिए गए हैं और विभाग अब भी नींद में ही है। मालूम हो कि शहर के राकेश मार्ग स्थित एक दुकान के शेड में करंट उतर आया था।ही बरती और जिसका नतीजा बेहद दुखद रहा।


यहां तक कि आबादी और पाश इलाकों में रखे ट्रांसफार्मर के नीचे भी कई जगह दुकानें व रेहड़ियां लगा ली गई हैं। कुछ लोगों ने नेहरू नगर, राकेश मार्ग से लेकर जीटी रोड, कविनगर, राजनगर, पटेल नगर, अंबेडकर रोड आदि जगह ट्रांसफार्मर के फाउंडेशन के नीचे दुकानें खोल रखीं हैं, तो कुछ ने यहां स्टोर बना लिया है।  विद्युत विभाग की ओर से शहर में विद्युत पोल और फाउंडेशन बनाकर ट्रांसफार्मर रखे गए हैं, लेकिन अधिकांश की फेंसिंग अभी नहीं हुई है। राकेश मार्ग पर हुए हादसे के बाद भी अतिक्रमण कर अवैध दुकान सजाने वालों को कोई फर्क नहीं पड़ा है। वहीं, विद्युत विभाग भी इस हादसे के बाद खुद को भाग्यवान समझ बैठा है कि हादसा उनकी गलती से नहीं हुआ। यही वजह है कि वह ध्यान दिलाने के बाद भी हादसे के प्वाइंट पर ध्यान केंद्रित नहीं कर रहा है। विद्युत ट्रांसफार्मर के इर्द-गिर्द अतिक्रमण कर दुकान या रेहड़ी लगाने वालों की सूची तैयार कर उनके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

Post a Comment

From around the web