Gorakhpur कचरे से खाद बनाकर गोविवि में शुरू हुआ पहला स्टार्टअप

d

गोरखपुर जिले के दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय में कुडे से जैविक खाद बनाकर पहले स्टार्टअप शुरू किया है। यहां पर रोजाना करीब 80 से 90 किलो जैविक खाद बनाया जा रहा है। 

इस योजना के तहत परिसर का कचरा अब बाहर नहीं जाएगा, साथ ही होटल-रेस्टोरेंट से भी कचरा एकत्र कर जैविक खाद तैयार की जाएगी। छात्र कचरे से बनी जैविक खाद के स्टोरेज, पैकेजिंग और मार्केटिंग की जिम्मेदारी संभालेंगे। विश्वविद्यालय में नॉन प्राफिट कंपनी जीरो वेस्ट कैंपस के तहत बायोडिग्रेडेबल वेस्ट से जैविक खाद बनाने के लिए दो मशीनें लगाई गई हैं। 

जीरो वेस्ट कैंपस योजना के तहत इस स्टार्टअप को शुरू किया गया है। अभी शुरुआत हुई है। बड़ा शेड बन रहा है जहां इसे व्यापक रूप दिया जाएगा। नगर निगम से भी एमओयू होगा ताकि प्लास्टिक व अन्य अनुपयोगी कचरा परिसर से बाहर जा सके। 

Post a Comment

From around the web