शिकायत के बाद पीएनबी मोदीनगर के खिलाफ जांच कमेटी गठित

drru

मामला मोदीनगर स्थित गोविदपुरी पंजाब नेशनल बैंक शाखा का है, जिसके खिलाफ जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत होने के बाद जांच कमेटी गठित की गई है। संयुक्त आयुक्त उद्योग की अध्यक्षता में एसडीएम मोदीनगर व संयोजक सचिव खादी ग्रामोद्योग अधिकारी संजय कुमार जांच कमेटी में शामिल होंगे। आठ सितंबर को पीएनबी गोविदपुरी शाखा मोदीनगर के बैंक अधिकारी व विपिन कुमार जांच कमेटी के समक्ष उपस्थित होंगे। एक ओर सरकार स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए तमाम योजनाएं संचालित कर रही है। वहीं, कुछ बैंक अधिकारी तमाम कागजात पूरे होने के बाद भी स्वरोजगार के लिए ऋण मुहैया कराने में आनाकानी कर रहे हैं। 

उन्होंने खाते से ऋण का पैसा नहीं निकाला। मोदीनगर की पीएनबी की बस स्टैंड शाखा के उनके दूसरे खाते से एक दिन 25610 रुपये निकलने का मैसेज आया। बैंक से पता चला कि उनके खाते से ऋण की किस्त काटी गई है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना (एमवाइएसवाइ) के तहत विनीत अग्रवाल निवासी गांव डिगमाबाद ने स्वरोजगार के लिए एक प्रोजेक्ट तैयार कर 10 लाख रुपये ऋण के लिए  
दूसरे खाते से किस्त कैसे निकाल ली गई। जनसुनवाई पोर्टल पर उन्होंने बताया कि संबंधित बैंक मैनेजर ने उनकी ईमानदारी को लेकर अपशब्द बोले। इसकी शिकायत उन्होंने पीएनबी के आला अधिकारियों और जनसुनवाई पोर्टल पर की। आवेदन किया। प्रोजेक्ट रिपोर्ट के साथ तमाम कागजी कार्रवाई पूरी होने के बाद उनके आवेदन को मोदीनगर स्थित पीएनबी शाखा को भेज दिया। साल 2019 में 10 लाख के आवेदन पर पांच लाख रुपये का ऋण स्वीकृत हुआ। कोरोना संक्रमणकाल के दौरान मई माह में ऋण खाते में आने पर कोरोना संक्रमणकाल में हुए लाकडाउन में सभी प्रतिष्ठान बंद रहे।  उन्होंने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि अभी काम भी शुरू नहीं हुआ ऋण का पूरा पैसा उसी खाते में है। 

Post a Comment

From around the web